TRP kya hai in hindi / TRP Full Form in Hindi। हिंदी पूरी जानकारी साधारण भाषा में सीखें

TRP kya hai in hindi दोस्तों हम आपको इस आर्टिकल में TRP के बारे में बात करने वाले है जो आजकल काफी चर्चित विसय् बन गया है। और इस TRP के खेल में न्यूज़ चैनल काफी आगे निकल गए हैं लेकिन इनपर TRP के फ्रॉड करने के संदेह बना हुआ है। 

आज के इस आर्टिकल में आपको यही जानने को मिलने वाला है कि यह 

TRP kya hota hai ? 

TRP से TV चैनल  वाले पैसा कैसे कमाते हैं ?

और how to calculate TRP in hindi ?

और भारत में TRP को कौनसी कंपनी owne करती है।? 

TRP कैसे काम करता है इन सभी सवलो के जबाब आपको इस आर्टिकल में जानने को मिलने वाला है। पहले बात करते है किया TRP क्या है

TRP kya hota hai / TRP full form । TRP को कैसे calculate किया जाता है।

TRP kya hai ? What is TRP

जैसा कि आप ने न्यूज़ चैनल में जरूर सुना होगा टॉप के बारे में लेकिन आप confuse होते है कि आखिर TRP कौनसी चिड़िया का नाम है ।  तो हम आपको बता दे की यह किसी चिड़िया का नाम नहीं ये ऐसी चीज़ है जिसके बिना आपको शायद ही TV चैनल देखने को मिलते है। 

TRP टीवी चैनल की लिया काफी जरूरी होता है जिसके बिना कोई भी टीवी चैनल ग्रो नहीं कर सकते है और नहीं बाजार में अपना अस्तित् जमा सकते है। how to calculate TRP in hindi

TRP के पूरा नाम होता है (Telivision Ratings Points) और इसी वजह से सभी टीवी channels अपने TRP को बढ़ाने में लगे रहते है और इसके वजह से Television के anchor गला फार फार कर छिख्ते है कि हमारा चैनल नंबर वन है मेरे चैनल नंबर वन है। और टीवी चैनल वाले show को इस तरह से तैयार करते है कि उनका शो अधिक अधिल् लोगों तक पंहुचा होता जिससे उनकी ज्यादा ज्यादा कमाई हो सके इसे और डिटेल से समझते है।

TRP Full Form in Hindi . What is TRP full form

TRP के फूल फॉर्म क्या होता है तो हम आपको बता दे की TRP का फूल फॉर्म (Television Ratings Points) होता है । इन points के जरिए ही यह पता चलता है। किस show को कितना अधिक बार देखा गया है और कितने लॉगो के पास  पंहुचा है । यह points ही बताते हैं  कि कौनसा शो हिट्स हो रहा है और लोग उसे कितना पसंद कर रहे हैं इसी वजह से टीवी channels वाले अपने शो में अपनी चैनल तारीफ करते हुए नज़र आते है ।

Also read :- India vs England live match kaise dekhe

Also read :- how to start online in hindi or kaise paisa kma sakte hai

TRP कैसे पता चलता है। How do know TRP rating

TRP को कैसे पता किया जाता होगा तो हम आपको बता दे की टीवी channels के ratings को देखने counts कर्म के लिया कुछ शहरों या गावं कुछ छुनिन्द जगहों पर एक खास तरह की यँत्र (डिवाइस) लगाई जाती है जिसे People meters कहा जाता है। 

people meters को हद किसी के घरों में नहीं लगाई जाती है इसके केलिए खास जगह का सेलेक्ट किया जाता है और उनके घरों में इस People meters को इनस्टॉल किया जाता है लगाई जाती है। और इसकी डिटेल को पब्लिक नहीं किया जाता है इसे गुप्त ही रखा जाता है। और यह सबसे जरूरी होता है नहीं तो कोई भी टीवी channels वाले डेटा की हेरा फिरी कर सकते है। 

और इसी People meters से यह पता चलता है  इस channels या फिर इस शो को कहा के लोग कितनी समय तक और किस दिन देखते है और कितनी देर तक  देखा जा रहा है यही पीपल meters काम करता है।

People Meters को घरों में कैसे लगाया जाता है ?

People Meters को घरों में लगाने के सिंपल तरीका होता है People meters को घर में लगे setup box को एक केबल के जरिए उसे setup box से connect किया जाता है जिसका बाद people meters काम करने शुरू कर देते है। हम आपको बता दे की TRP को नोर्मल टीवी connection में मैज़र नहीं किया जा सकते है। 

people meters के लिया setup box वाला है केबल connection जरुरी होता है खास जगहों पर लगे यह people मिटर TRP से जुड़े सभी Data को Headquaters तक पहुँचाए जाते है। जिसके बाद हर हफ्ते कंपनी नई TRP को जारी करती है। और पता चलता है किस चैनल को लॉगो ने ज्यादा पसंद क्या है और टीवी चैनल अपने ads के रेट को बढाती है।

people Meters का क्या काम होता है।

अब आपके मन यह सवाल जरूर उठा होगा कि people meters किस तरह  डेटा को कलेक्ट करती है तो हम आपको बता दे की घरों में लगे people meters के काम होता है कि किस - किस टीवी channels पर कितने Impresson और कितने लॉगो ने उस particular show को पसंद किया है और कितने समय तक उसे देखा गया है। और कितने लॉगो ने उस टीवी channels के पिक्चर मैचिंग हिस्से को भी  देखा जाता है।

How to calculate TRP in hindi. TRP को कैसे Calculate किया जाता है ?

तो अब आप सोच रहे होंगे कि किस तरह से पूरे TRP के खेल को calculate किया जाता है । तो बातें दे की भारत अभी एक कंपनी है जो कमर्शियल पर् अधरित् टीवी channels के rating को जारी करती है जिसका नाम BARC पूरा नाम (Broadcast Audience Research Cauncil)  2015 के बाद से यही एक ऐसी कंपनी है जो Commercial बेसिस  पर भारत में  channels के TRP निकालने के तौर पर काम करती है। 

Also read :- Truecaller alternative app google verified calls 

ऐसे और भी एजेंसी है जो TRP को जारी करती है जिसमें INTAM ( Indian Television Audience ) और दूसरी है  DART (Doordarshan Audience Research Team बहुत से Commercial और प्राइवेट टीवी channels के TRP निकालती है और अपने website पर भी इसे publish करती है 

और ये कंपनी सभी category  के टीवी चैनल की TRP पर नज़र रखती है जैसे Entertainment, और News hindi, News English, Etc. और ये एजेंसी यह भी देखती है कि किस channel पर कितने Impresson आये हैं और कौनसा चैनल नंबर वन पर है कौनसा चैनल नंबर दो पर है । इन सभी को BARC के द्वारा देखा जाता है।

TV channel paise kaise kamate hai ?

टीवी channel वाले पैसा कैसे कमाते हैं  ?

टीवी चैनलों की कमाई का पूरा सिस्टम इसी TRP से चलता है. टीवी चैनलों को अपनी आमदनी का 90 फीसदी हिस्सा advertisement से मिलता है. इन advertisement को दिखाने का हर टीवी चैनल का अपना-अपना रेट होता है. 

यह रेट इस बात से ही तय होता है कि किसी चैनल को कितने ज्यादा लोग देख रहे हैं. TRP के आंकड़े से पता चलता है कि कौन-सा चैनल ज्यादा पॉपुलर हो रहा है. इसके बाद तो सीधा फंडा है- जो दिखता है, वो बिकता है.

जिसकी ज्यादा TRP, उसके पास विज्ञापन देने वालों की उतनी ज्यादा भीड़. और इस भीड़ के चलते उसके विज्ञापनों के उतने ही ज्यादा रेट. हालांकि चैनल इसे सबसे भरोसेमंद और बेहतरीन चैनल के तौर पर भी देखते हैं. लेकिन यह गुणवत्ता नहीं बल्कि ज्यादा से ज्यादा उसे देखने वालों की रेटिंग होती है.

चैनल की कमाई का सबसे बड़ा हिस्सा advertisement होता है सभी channels के पहला इनकम सोर्स advertisement है होता है। channels के incomes का सोर्स और भी कई तरह के होते है लेकिन सबसे ज्यादा कमाई advertisement से किया जाता है। और इसमें कोई फिक्स्ड रेट नहीं होता advertisement चैनल को उनके TRP के हिसाब से ही पैसे देते है।

टीवी channles वाले के खर्च निकालने के बाद भी उनको  साला करोड़ो को कमी होती है तभी तो यह सभी अभी तक चल रहे हैं।  आप ने जरूर देखा होगा कि न्यूज़ चैनल पर ज्यादा advertiser पैसे देते है । 

क्योकि सबसे एक्टिव चैनल होते है क्योकि कोई न कोई खबर आती रहती है उसके के लिया अलग से advertiser अपने adverting के लिया पैसे देते है।  तभी तो आपको न्यूज़ channels के लिया आपको पैसे नहीं देने होते है क्योकि और कोई टीवी channels की तुलना में सबसे ज्यादा advertisement का पैसा न्यूज़ चैनल को ही दिया जाता है।

Conclusion आखरी शब्द 

अगर दोस्तों आपको हमारे इस आर्टिकल में यह जानने को मिल है कि TRP kya hai in hindi  । और TRP कैसे calculate किया जाती है और TRP से टीवी channels कैसे पैसा कमाते हैं।

People meters kya hota hai इन सभी के बारे में आपको इस आर्टिकल में सीखने को मिल है। आगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया है तो आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और ऐसी जानकारी के लिया हमारे website पर बने रहे हैं।

Tages  ;- Trp full form in hindi . 

What is TRP full form.